×

Warning

JUser: :_load: Unable to load user with ID: 17

Friday, 19 April 2019 11:14

राजद के 40 विधायकों पर है 16 सांसद जिताने का दारोमदार Featured

Written by
Rate this item
(1 Vote)

राजद ने पार्टी के अधिक विधायकों वाली सीटों पर दाव खेला है। दो चरण के चुनाव में तो राजद के सिम्बल पर मात्र तीन ही उम्मीदवार मैदान में थे, लेकिन सही मायने में तीसरे चरण के चुनाव से राजद के विधायकों की अग्निपरीक्षा होनी है। इन पांच चरणों के चुनाव में पार्टी ने 16 संसदीय क्षेत्रों में अपने उम्मीदवार उतारे हैं। इन 16 क्षेत्रों में पार्टी के 40 विधायक हैं। 

खास बात यह है कि पार्टी के इन विधायकों में पांच तो खुद ही किसी ना किसी संसदीय क्षेत्र से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। अपने विधानसभा क्षेत्र में अधिक बढ़त लेने की चुनौती खुद इन उम्मीदवारों पर होगी। इसी के साथ नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और राजद प्रमुख लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव दोनों का विधानसभा क्षेत्र हाजीपुर संसदीय क्षेत्र में है।  जिन संसदीय क्षेत्रों में राजद के अधिक विधायक हैं, वहां से उसके उम्मीदवार भी अधिक हैं। एक संसदीय क्षेत्र में औसतन छह विधानसभा क्षेत्र होते हैं। दूसरे चरण के बाद राजद के जो भी उम्मीदवार बचे हैं, उनमें 10 संसदीय क्षेत्रों में पार्टी के आधे या उससे अधिक विधायक हैं। शेष छह संसदीय क्षेत्र में शिवहर, गोपालगंज, सीवान और बक्सर संसदीय क्षेत्र ऐसा है जहां राजद के सिर्फ एक-एक विधायक ही हैं। जहानाबाद और सारण संसदीय क्षेत्र में राजद के चार-चार विधायक हैं। 

बेगूसराय समेत आठ सीटों पर तीन-तीन विधायक
सीतामढ़ी, मधेपुरा, दरभंगा, वैशाली, महाराजगंज, हाजीपुर, बेगूसराय और पाटलीपुत्र संसदीय क्षेत्रों में राजद के तीन-तीन विधायक हैं। इनमें दरभंगा से चुनाव लड़ रहे अब्दुल बारी सिद्दीकी अपने क्षेत्र के अलीनगर विधान सभा क्षेत्र का वर्तमान में प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। हाजीपुर से चुनाव लड़ रहे शिवचन्द्र राम खुद अपने क्षेत्र के राजापाकड़ से विधायक हैं। सुरेन्द्र यादव जहानाबाद संसदीय क्षेत्र के प्रत्याशी हैं और वह खुद बेलागंज से विधायक हैं। इसी प्रकार गुलाब यादव अपने संसदीय क्षेत्र झंझारपुर के झंझारपुर विधानसभा क्षेत्र और चंद्रिका राय अपने क्षेत्र सारण के परसा विधानसभा क्षेत्र के प्रतिनिधि हैं। 

Read 154 times Last modified on Friday, 19 April 2019 11:20

संग्रहीत न्यूज