×

Warning

JUser: :_load: Unable to load user with ID: 17

Wednesday, 29 May 2019 12:38

युवकों की हत्या से मचा हड़कंप Featured

Written by
Rate this item
(1 Vote)

जमुई जिले के कौआकोल से अगवा  तीनों युवकों की हत्या के बाद  उनकी क्षत विक्षत लाश  थाना क्षेत्र के भोरमबाग गांव के पास पहाड़ी के ऊपर झाड़ी में मिली। इस घटना के बाद क्षेत्र में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों के शवों को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए नवादा भेज दिया है। गया के शेरघाटी थानाक्षेत्र के पंडौल गांव के निकट बधार में दो युवकों की गला काट कर हत्या कर दी गई। दोनों युवकों के शव बुधवार की सुबह दरियापुर-गुरुआ रोड से पंडौल गांव को जोड़ने वाले सम्पर्क मार्ग के किनारे गड्ढे में मिले हैं। सुबह में युवकों के शव पाए जाने की सूचना पर आस-पास के लोग भी मौके पर जुटे और मृतकों की पहचान करने की कोशिश की। दो शवों के मिलने पर आस पास के इलाके में सनसनी फैल गई है। 

जानकारी के अनुसार, 24 मई की शाम कौआकोल थाना क्षेत्र के कदहर गांव के समीप नाटी नदी के पुल के पास से जमुई जिले के सिकन्दरा निवासी राजकुमार यादव उर्फ पल्लू, जितेन्द्र उर्फ रिंकू और विक्की रजक का अपहरण कर लिया गया था। वे तीनों बाइक से जा रहे थे। इस मामले में पुलिस के हाथ कई दिनों से खाली थे। पुलिस को कोई भी ठोस सुराग नहीं मिल सका था। शक की सुई शराब माफियाओं की तरफ घूम रही थी। कयास लगाया जा रहा था कि शराब के धंधे से जुड़े माफिया आपसी विवाद को लेकर उन्हें अगवा कर सकते हैं।

पुलिस ने इस मामले में एक दर्जन से अधिक लोगों को कौआकोल, सिकंदरा व मोकामा से पूछताछ के लिए उठाया भी, लेकिन किसी से भी उनके अगवा होने के बारे में कोई स्पष्ट जानकारी नहीं मिल सकी थी। इस बीच कौआकोल में तीनों की लाश मिलने के बाद सनसनी फैल गई। कौआकोल थानाध्यक्ष ने बताया कि पहाड़ी के ऊपर झाड़ी से तीनों का शव बरामद कर लिया गया। तीनों की हत्या की गई है। इस मामले की जांच की जा रही है।

वहीं दूसरी ओर गया के शेरघाटी थानाक्षेत्र के पंडौल गांव के निकट बधार में दो युवकों की गला काट कर हत्या कर दी गई। दोनों युवकों के शव बुधवार की सुबह दरियापुर-गुरुआ रोड से पंडौल गांव को जोड़ने वाले सम्पर्क मार्ग के किनारे गड्ढे में मिले हैं। सुबह में युवकों के शव पाए जाने की सूचना पर आस-पास के लोग भी मौके पर जुटे और मृतकों की पहचान करने की कोशिश की। दो शवों के मिलने पर आस पास के इलाके में सनसनी फैल गई है। 

शेरघाटी के एएसपी रवीश कुमार ने बताया कि दोनों शवों को पुलिस ने अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए गया भेजा है। उन्होंने बताया कि मृतकों में से एक की पहचान औरंगाबाद जिले के देव थाने के भवानीपुर गांव के दिलीप प्रसाद सिंहा के पुत्र 22 वर्षीय अभिषेक कुमार के रूप में की गई है। दूसरा मृतक भी उसी गांव का बताया जाता है। पुलिस को मिले इनपुट के अनुसार दोनों चचेरे भाई हैं। घटनास्थल से पुलिस को हत्या के लिए उपयोग किए गए तेज धार वाले दो कटार भी मिले हैं। पुलिस ने देव थाने के मृतक के परिजनों को घटना की जानकारी दी है। इससे पूर्व एएसपी ने शेरघाटी और गुरुआ थाने की पुलिस के साथ मौके पर पहुंच कर घटनास्थल का जायजा लिया। 

एएसपी ने बताया कि इस हादसे के पीछे पुरानी दुश्मनी की बात सामने आ रही है। उन्होंने मृतकों के किसी वाहन के चालक-खलासी होने की आशंका से इनकार किया है। स्थानीय चश्मदीदों के मुताबिक गला कटा होने के बावजूद घटनास्थल पर खून नहीं मिला है, जिससे प्रतीत होता है कि हत्या किसी दूसरे स्थान पर की गई है और शवों को सुनसान सड़क पर फेंका गया है। पुलिस मृतक के परिजनों के आने का इंतजार कर रही है।

 
Read 110 times

संग्रहीत न्यूज