Headlines:

Hottest News

Advt....

प्रदेश

हजारीबाग नगवां टॉल प्लाजा को आदर्श युवा संगठन ने अवैध बताते हुवे केंद्र सरकार से बंद करने की मांग की है पांच दिनों से आमरण अनशन मे बैठे ए वाई एस अध्यक्ष गौतम कुमार ने खास बातचित में बताया कि 50किलोमीटर के अंदर ही दो टॉल प्लाजा हो जा रहा है जो की नही होना चाहिए। जिला प्रशासन और एनएचएआई के मिलीभगत से नगवां टॉल प्लाजा छभ्33 में बनाया गया है चुकी पचास किलोमीटर के अंतर्गत छभ्2 बरही में टॉल प्लाजा स्थित है जिससे वहाॅं के ग्रामीणों को यातायात में काफी दिक्कतो का सामना करना पड़ेगा ,टॉल प्लाजा बनने से पूर्व एनएचएआई द्वारा बात कही गई थी की नजदीकी ग्रामीणों को टॉल प्लाजा में नौकरी दिया जाएगा और साथ ही 25 से 30 किलोमीटर के क्षेत्र मे चार पहिया वाहनो का टोल टैक्स माफ होगा, लेकिन टोल प्लाजा बन जाने के बाद एनएचएआई इस बात से इंकार कर दे रहा है। इस बाबत हमलोगों ने 26 दिसंबर को रोड जाम किया ,सांसद विधायक का पुतला दहन किया, लेकिन केंद्र सरकार या एनएचएआई ने इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया नही दिखाई। उन्होंने बताया कि जब हमलोग रोड टैक्स देते है तो फिर टॉल टैक्स क्यों। गौतम कुमार ने कहा कि जब तक केंद्र सरकार और एनएचएआई हमारी मांगों को पूरी नहीं करती तब तक हमलोग अनशन में बैठे रहेंगे । और गौतम कुमार से मिलने सैकड़ो लोग नगवां टॉल प्लाजा के पास गए उनका समर्थन भी किया , और बजरंग क्लब बरकट्ठा के सभी सदस्य आदर्श युवा संगठन का समर्थन करते हुवे आंदोलन में भाग लेने की बात कही । मौके पर अनशन में गौतम कुमार ,संदीप कुमार मोदी, छात्राधारी मेहता,मनीष कुमार पुरुषोत्तम कुमार ,राजेश कुमार , जीतेन्द्र कुमार , डुग्गु कुमार, संदीप कुमार, बजरंग क्लब बरकट्ठा के सदस्यगण सतीश मोदी, बबलू कुमार पांडेय, शंकर गुप्ता ,रामानंद ,विक्की, अनिल, दीपक मालाकार,मुन्ना रविदास समेत कई लोग शामिल थे ।

बरकट्ठा । विगत दिनों हजारीबाग में रहने वाली मेडिकल छात्रा पूजा भारती पूर्वे की बेरहमी से हत्या कर पतरातू डैम में हाथ पैर बंधा उसका शव मिलने के बाद पुलिस अब तक अपराधियों तक पहुंचने में नाकाम रही । इसलिए पूजा भारती पूर्वे को न्याय दिलाने के लिए चैतरफा विरोध शुरु हो गया है। झारखंड के प्रत्येक जिलों में लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी की कड़ी में बरकट्ठा प्रखंड के सलैया पंचायत मे झारखंड यूथ फेडरेशन द्वारा कैंडल मार्च निकाला और पूजा भारती पूर्वे के लिए झारखंड सरकार एवं प्रशासनिक पदाधिकारियों से न्याय की मांग की । कैंडल मार्च में मुख्य रूप से सलैया पंचायत मुखिया गोपाल प्रसाद ,झारखंड यूथ फेडरेशन अध्यक्ष सौरव कुमार ,सचिव मनोज कुमार, कोषाध्यक्ष विकास कुमार, मीडिया प्रभारी रंजन कुमार ,बजरंग क्लब के सदस्य शंकर गुप्ता ,बबलू पांडेय,सतीश मोदी ,अनिल कुमार, राजेश कुमार ,रामानंद ,दीपक ,विक्की,एवं शिक्षक गण अरुण जी , वीरेंद्र जी , इंद्रदेव जी एवं सैकड़ों गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे ।

हजारीबाग बरकठा। सूर्यकुण्ड धाम मे मेला के आयोजन को कोरोना काल को देखते हुए रोक लगा दिया गया, जिसमे देश प्रदेश के लोग गर्म कुंड तथा मेले का आनंद लेने पहुंचते थे । लेकिन इस बार मेले नहीं लगने से लोगो को उदासी छा गई। यह कुंड भारत का सबसे अधिक गर्म कुंड है जहाँ 88डिग्री से भी अधिक तापमान मे उबलता हुआ कुंड है जिसमे लोग आंवला डाल कर अपनी मन्नत को मांगते है और अपनी आत्मा को शांति देते है। यह एक पर्यटक स्थल है इस कुंड मे स्नान करने से लोगो को तन और मन को शांति तथा सुख मिलता है इस कुंड मे मकर संक्रांति के दिन अधिक संख्या मे लोगो को स्नान करते हुए झुण्ड दिखाई दिया।

बरकट्ठा हजारीबाग । बरकठा के विधायक ने बड़ी धूम -धाम से मकर संक्रांति का पर्व मनाया। इस आयोजन मे बरकठा प्रखंड के कई गाँव के लोग सम्मिलित हुए और धूम धाम से मकर संक्रांति मनाए। हर वर्ष की भांति इस वर्ष अधिक से अधिक संख्या मे लोगों ने चूड़ा दही गुड़ और तिलकुट का आनंद लिया। इस कार्यक्रम को विधायक अमित कुमार यादव ने आयोजित किये ! कार्यक्रम मे पहुँचे हुए लोगांे को उन्होंने मकरसंक्रांति की सुभकामनाएॅं दी और अपने हाथो से चूड़ा दही खिलाया।

हजारीबाग। बरकट्ठा थाना के थाना प्रभारी श्री राजेंद्र कुमार महतो के द्वारा मकर संक्रांति को लेकर एक बैठक का आयोजन किया गया जिसमंे यह निर्णय लिया गया कि मकर संक्रांति पर्व के मौके पर आपस में शांति सौहार्द बनाए रखने की आवश्यकता है। पर्व के इस मौके पर क्षेत्र मे किसी भी प्रकार की अशांति का माहौल न हो। साथ ही थाना प्रभारी के द्वारा निर्देश दिया गया कि अगर कहीं भी किसी तरह कि ऐसी सूचना मिले तो हमें सूचित किया जाए। इस बैठक में मुखिया, पत्रकार बंधु, थाना इंस्पेक्टर, थाना प्रभारी और सामाजिक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव में बीजेपी ने भगवा परचम लहरा दिया है। पिछले चुनाव में महज चार सीटें जीतने वाली बीजेपी ने इस चुनाव में अब तक 46 सीटें जीतीं हैं। जानकारों की माने तो बीजेपी के लिए यह जीत हैदराबाद का किला जीतने के समान है। GHMC चुनाव में सत्तारूढ़ टीआरएस के खाते में 56 सीटें गई हैं। जबकि ओवैसी की पार्टी AIMIM ने 43 सीटों पर कब्जा जमाया है।ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव के प्रचार के दौरान बीजेपी ने पूरी ताकत झोंक दी थी। इस असर चुनाव परिणाम में साफ दिख रहा है। वहीं बीजेपी के इस दमदार प्रदर्शन ने विपक्षी पार्टियों की चेहरे पर चिंता की लकीरें खींच दी हैं। पिछले चुनाव 2016 में टीआरएस ने 99 और असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की पार्टी AIMIM ने 44 सीटें जीती थीं, जबकि कांग्रेस के खाते में सिर्फ 2 वार्ड आए थे। इस बार के चुनाव में टीआरएस को बड़ा झटका लगा है।

झारखंड में पर्यटन के क्षेत्र में काफी संभावनाएं हैं. यहां ऐसे कई पर्यटक स्थल हैं, जिनकी ख्याति देश- दुनिया में हैं, लेकिन ऐसे भी कई पर्यटक स्थल हैं, जिनकी पहचान नहीं हो सकी है. इन पर्यटक स्थलों की पहचान करने के लिए स्थानीय लोगों से जानकारी लेने की दिशा में कदम उठाया जाए और फिर इन्हें विकसित कर पर्यटन के मानचित्र पर स्थापित किया जाए. मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने पर्यटन, कला, संस्कृति, खेलकूद और युवा कार्य विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान कही. इस मौके पर विभाग की ओर से चलाए जा रहे कार्यक्रमों और गतिविधियों से मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया.

झारखंड आने वाले सैलानियों का डिटेल्स लेने की व्यवस्था हो

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड के पर्यटक स्थलों को देखने के लिए जो सैलानी आते हैं, उनकी डिटेल्स जानकारी रखने के लिए मैकेनिज्म बनाया जाए. ताकि उन्हें यहां अगर किसी तरह की परेशानी होती है तो उसका त्वरित समाधान निकाला जा सके.

पर्यटक स्थलों का डॉक्यूमेंटेशन किया जाए

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड के जो पर्यटक स्थल हैं, उनका डॉक्यूमेंटेशन कराने की व्यवस्था विभाग करे. इसके बाद विभिन्न माध्यमों से इसका प्रचार-प्रसार सुनिश्चित किया जाए, ताकि सैलानियों तक इसकी जानकारी पहुंच सके और वे इसे देखने के लिए आकर्षित हों. उन्होंने यह भी कहा  कि एक पर्यटक स्थल पर राज्य के दूसरे पर्यटक स्थलों की भी विस्तृत जानकारी देने की व्यवस्था हो. इसके लिए साइनेजेज का व्यापक स्तर पर इस्तेमाल किया जाए, ताकि पर्यटक उस पर्यटन स्थल को देखने के लिए जाएं.

 विभाग की ओर से पर्यटन के क्षेत्र में उठाए गए कदमों की दी गई जानकारी

मुख्यमंत्री को पर्यटन, कला, संस्कृति, खेलकूद और युवा कार्य विभाग की प्रधान सचिव ने चलाए जा रहे कार्यक्रमों, गतिविधियों और योजनाओं की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि  39. 13 करोड़ रुपए की लागत से बाबा वैद्यनाथ धाम, देवघर को प्रसाद स्कीम के तहत विकसित किया जा रहा है, वहीं स्वदेश दर्शन स्कीम के तहत दलमा-चांडिल-गेतलसुद-बेतला-मिरचैया-नेतरहाट के लिए 52.72 करोड़ रुपए का बजट है. रजरप्पा पर्यटक स्थल के लिए 20.91 करोड़ रुपए, लुगुबुरु (बोकारो) के लिए 11.99 करोड़, चांडिल पर्यटक स्थल के लिए 8.92 करोड़ रामगढ़-रांची एनएच-33 पर चुटूपालू में  विजिटर्स गैलरी बनाया जाएगा. इसके  अलावा दुमका में       म्यूजियम और  ओपेन एयर थिएटर का निर्माण 33.75 करोड़, देवघर में फूड एंड क्राफ्ट इंस्टीट्यूट तथा पतरातू में  टूरिस्ट गेस्ट  हाउस बनाया जा रहा है.

पर्यटन की ये योजनाएं हैं प्रस्तावित

रांची के धुर्वा में ट्राइबल थीम पार्क, साहेबगंज, सरायकेला-खरसांवा और दुमका में हैंडीक्राफ्ट टूरिज्म सेंटर,   राजमहल-साहेबगंज-पुनई चौक गंगा फेरी सर्किट, दुमका और रांची में रूरल टूरिज्म सेंटर, बासुकीनाथ, दुमका में वेसाइड एमिनिटीज, नेतरहाट के मैग्नोलिया सनसेट प्वाइंट में वैली ऑफ फ्लावर, मसानजोर में  एडिशनल टूरिस्ट कॉम्प्लेक्स और शिवगादी, साहेबगंज, मसानजोर और दुमका में एडवेंचर टूरिज्म को बढ़ावा देने की योजना बनाई गई है.

 29 दिसंबर 2020 को सरकार के पूरे होंगे एक साल, ये योजनाएं होंगी लांच

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सरकार के कार्यकाल का एक साल 29 दिसंबर को पूरा हो रहा है. इस मौके पर विभाग की  ओर रांची स्थित होटल अशोका का पर्यटन विभाग द्वारा अधिग्रहण और इको सर्किट प्रोजेक्ट को लांच किया जाएगा.

 इको टूरिज्म फेस्टिवल्स और कार्यक्रमों का होगा आयोजन

विभाग की ओर से मुख्यमंत्री को बताया गया कि इको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए नेतरहाट समेत चुनिंदा पर्यटक स्थळों पर इको टूरिज्म फेस्टिवल्स का आयोजन होगा. इसके तहत फरवरी माह में एक सप्ताह का इको रिट्रीट हब आयोजित करने का प्रस्ताव तैयार किया गया है.

 खेल और खिलाड़ियों को बढ़ावा देने की योजना तैयार

राज्य में खेल और खिलाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए भी ठोस योजना तैयार की गई है. इसके तहत खेल नीति-2020 बनाया गया है. खेल को आकर्षक और व्यवहार्य कैरियर विकल्प बनाने की  भी योजना तैयार की गई है. खिलाड़ियों का डेटाबेस तैयार कर अंतराष्ट्रीय क्षमता मानक के साथ सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी. इसके अलावा देशज और  पारंपरिक खेलों को प्रोत्साहन देने के साथ स्पोर्ट्स टूरिज्म को बढ़ावा दिया जाएगा.

खेल योजनाओं की अपडेट स्थिति

राज्य के  260 खिलाड़ियों को नकद पुरस्कार राशि दी गई है, जबकि 256 खिलाड़ियों को खेल छात्रवृति दी गई.

राज्य में 25 आवासीय क्रीड़ा प्रशिक्षण केंद्र और 89 डे बोर्डिंग क्रीड़ा प्रशिश्रण केंद्र चल रहे हैं.

राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के तहत फिट इंडिया फ्रीडम रन, राष्ट्रीय युवा दिवस पर आय़ोजित कार्यक्रम और  खेल संघों को अनुदान देन  की प्रक्रिया चल रही है.

अंडर-17 महिला फुटबॉल विश्वकप के लिए नेशनल कैंप का आयोजन झारखंड में किया गया.

 इन योजनाओं की तैयारी अंतिम चरण में

झारखंड में फुटबॉल को बढ़ावा देने के लिए फुटबॉल फेडरेशन के साथ खेल विभाग एमओयू करेगी. फुटबॉल फेडरेशन को टेक्निकल पार्टनर बनाया जाएगा.

खिलाड़ियों की सीधी नियुक्ति की प्रक्रिया चल रही है. अभी तक तैंतीस खिलाड़ियों का चयन इसके लिए हो चुका है.

खेलो इंडिया स्टेट सेंटर ऑफ एक्सेलेंस के तहत कुमारदुधानी में एकलव्य तीरंदाजी केंद्र,  दुमका को खेलो इंडिया स्टेट सेंटर ऑफ एक्सेलेंस और विभिन्न स्तर पर एक्सेलेंस सेंटर बनाने का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा गया है.

राज्य के हर जिले में दो  खेल केंद्रों को खेलो इंडिया स्टेट लेवल सेंटर के रुप में संचालित किया जाएगा.

अगले साल फरवरी में राज्यस्तरीय अंतर विद्यालय प्रतियोगिता आयोजित किए जाने का प्रस्ताव है.

इन योजनाओं का 29 दिसंबर को होगा शुभारंभ

राज्य में फुटब़ॉल के विकास के लिए आल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन और खेल विभाग के बीच एमओयू होगा

नई खेल नीति-2020 को लांच किया जाएगा

सीधी नियुक्ति के लिए चयनित खिलाड़ियों को मिलेगा नियुक्ति पत्र

खिलाड़ियों और  शोधकर्ताओं के लिए खेल पुस्तकालय का शुभारंभ होगा

राज्यभर में चयनित 15 स्कूलों में नए हॉकी एस्ट्रो टर्फ निर्माण का शिलान्यास होगा.      

                       इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थानीय खेल प्रतियोगिताओं की पहचान कर उसे बढ़ावा देने  की दिशा में कार्रवाई हो. इसके लिए उनके द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले खेल मैदानों को और भी बेहतर बनाया जाए और खिलाड़ियों की पहचान कर उनकी प्रतिभा को निखारने की कवायद विभाग करे.

इस मौके पर मुख्य सचिव श्री सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजीव अरुण एक्का, पर्यटन, कला संस्कृति, खेलकूद और युवा कार्य विभाग की प्रधान सचिव श्रीमती पूजा   सिंघल,   खेल निदेशक श्री जीशान कमर, पर्यटन निदेशक श्री  ए डोड्डे प्रमुख रुप से उपस्थित थे.

रांची। झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने वैश्विक महामारी नोवेल कोरेाना वायरस के खिलाफ अपनी लड़ाई जीत ली है। गुप्ता ने ट्वीट कर कोरोना रिपोर्ट के निगेटिव आने की जानकारी साझा करते हुए लिखा, ईश्वर की कृपा और सभी साथियों की दुआओं से मेरी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आयी है।जल्द ही फिर से झारखंड और जनता की सेवा में लगूंगा। इस संकट की घड़ी में सहयोग करने वाले सभी चिकित्सकों, स्वास्थ्यकर्मियों और रिम्स प्रबंधन समेत समर्थकों और राज्य की जनता का आभार प्रकट करता हूं।उल्लेखनीय है कि 18 अगस्त की रात आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक के बाद गुप्ता की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। स्वास्थ्य मंत्री के कोविड पॉजिटिव होने के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन समेत तकरीबन पूरा मंत्रिमंडल होम क्वारंटाइन हो गया था।

 

 दिल्ली के स्टेडियमों को किसानों की अस्थाई जेल नहीं बनाया जाएगा। दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने इसकी इजाजत नहीं दी है और दिल्ली के स्टेडियमों को जेल बनाने से इनकार कर दिया है।दरअसल केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीन कृषि कानूनों पर अपना विरोध दर्ज करने कई किसान संगठन दिल्ली पहुंच रहे हैं। पुलिस प्रदर्शनकारी किसानों को गिरफ्तार कर स्टेडियमों में रखना चाहती थी। दिल्ली सरकार में गृहमंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा, किसानों की मांग जायज है।केंद्र सरकार को किसानों की मांगे तुरंत माननी चाहिए। किसानों को जेल में डालना इसका समाधान नहीं है। किसानों का आंदोलन बिल्कुल अहिंसक है। अहिंसक तरीके से प्रदर्शन करना हर भारतीय का अधिकार है। इसके लिए उन्हें जेल में नहीं डाला जा सकता। इसलिए पुलिस द्वारा स्टेडियम को जेल बनाने की मांग नामंजूर की जाती है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली आने की कोशिश कर रहे प्रदर्शनकारी किसानों के प्रति अपना समर्थन जताया है।मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानून किसान विरोधी हैं। ये कानून वापिस लेने की बजाय किसानों को शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने से रोका जा रहा है, उन पर वॉटर कैनन चलाई जा रही हैं। किसानों पर ये जुल्म बिलकुल गलत है। शांतिपूर्ण प्रदर्शन उनका संवैधानिक अधिकार है।दरअसल, बड़ी संख्या में हरियाणा और पंजाब के किसान दिल्ली बॉर्डर पर हैं। ये किसान राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करना चाहते हैं। किसानों को प्रदर्शन करने से रोकने के लिए, पुलिस उन्हें हिरासत में लेकर में दिल्ली के 9 अलग अलग स्टेडियमों में रखना चाहती थी, लेकिन दिल्ली सरकार स्टेडियमों को अस्थाई जेल में तब्दील करने से इनकार कर दिया है।

 

रांची। झारखंड राज्य यूं तो खनिज, खनन से जुड़े कार्यों के लिये जाना जाता है लेकिन झारखंड को टूरिज्म के क्षेत्र में भी पहचान मिले इसके लिये प्रयास किये जा रहे हैं। झारखंड में टूरिज्म की असीम संभावनाएं हैं। ये बातें राज्य के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन में प्रोजेक्ट बिल्डिंग स्थित सभागार में आइटीडीसी और जेटीडीसी के बीच होटल अशोका के स्वामित्व को लेकर हुए एमओयू के दौरान कही।श्री हेमंत सोरेन ने कहा कि पर्यटन विभाग की पहल पर  आईटीडीसी और जेटीडीसी  के बीच होटल अशोका की 51 फीसदी हिस्सेदारी को लेकर जो एमओयू हुआ है, वह एक पहल है  और इस एमओयू के माध्यम से झारखंड में टूरिज्म के क्षेत्र में पहला पड़ाव हासिल कर लिया है। उन्होंने कहा कि बीते 20 सालों में हम कुछ कदम विकास की ओर चले तो हैं लेकिन कई ऐसे अनछूए क्षेत्र हैं जिनकी विकास की रूपरेखा अभी तैयार करनी है, उनमें से टूरिज्म एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है और राज्य में इससे रोजगार की असीम संभावनाएं हैं। श्री सोरेन ने कहा कि कार्यक्रम छोटा ही सही लेकिन इसके विकास के बहुत ही व्यापक मायने हैं। टूरिज्म विभाग की यह ऐतिहासिक जीत है। करीब तीन एकड़ जमीन जिसकी संपत्ति तीन हाथों में थी, उस जमीन के स्वामित्व की दिशा में सरकार ने पहला पड़ाव हासिल किया है। जल्द ही  बिहार सरकार के पूर्ण गठन के बाद पूर्ण स्वामित्व की दिशा में कदम बढ़ाया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखंड अब होटल अशोका का एक बड़ा शेयर होल्डर हो गया है और इसके साथ ही टूरिज्म की दिशा के रास्ते भी खुल गये हैं। झारखंड-बिहार संपत्ति बंटवारे को लेकर उन्होंने कहा कि सरकार अपनी संपत्ति को लेकर काफी संवदेनशील है।पर्यटन विभाग की सचिव श्रीमती पूजा सिंघल ने कहा कि होटल अशोका में आइटीडीसी की करीब 51 फीसदी हिस्सेदारी थी जिसके स्वामित्व को लेकर जटीडीसी और आईटीडीसी के बीच एमओयू किया गया है। करीब 25 हजार शेयर अब झारखंड के स्वामित्व  में आ चुके हैं। उन्होंने कहा कि होटल अशोका में कार्यरत करीब 24 कर्मचारियों को लाभ तो मिलेगा ही साथ ही शेष बची हिस्सेदारी के लिये बिहार सरकार से वार्ता की दौर जारी है जल्द ही उसका भी निराकरण किया जायेगा। आईटीडीसी के निदेशक पीयूष तिवारी और जेटीडीसी के निदेशक श्री ए डोड्डे के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किये गये तथा स्वामित्व का हस्तातंरण किया गया। इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री सुखदेव सिंह, पर्यटन विभाग के पदाधिकारी सहित आइटीडीसी और जेटीडीसी के पदाधिकारी उपस्थित थे।                                                              

Page 1 of 10