Headlines:

Hottest News

Wednesday, 04 December 2019 00:57

 राम मंदिर का फैसला आस्था के आधार पर हुआ: स्वामी 

Written by Scanner India News Network
Rate this item
(0 votes)

काशी और मथुरा में मंदिर बनाने के लिए जमीन का अधिग्रहण करे सरकार: सुब्रह्मण्यम स्वामी

रविवार को प्रयागराज स्थित अरुंधति वशिष्ठ अनुसंधान पीठ की ओर से आयोजित अशोक सिंघल स्मृति व्याख्यान में बोलते हुए राज्यसभा सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि सरकार चाहे तो वह अयोध्या में काशी विश्वनाथ मंदिर और मथुरा में श्री कृष्ण जन्मभूमि की जमीनों का अधिग्रहण कर सकती है।  व्याख्यान में शामिल होने के लिए प्रयागराज पहुंचे स्वामी ने अपने संबोधन में कहा, 'अयोध्या मामले का फैसला आने के बाद लोग पूछ रहे हैं कि काशी विश्वनाथ और कृष्ण जन्मभूमि का क्या होगा? मेरा जवाब रहता है कि, काशी और मथुरा की मंदिरों की जमीन का अधिग्रहण सरकार कर सकती है। देश के प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहरलाल नेहरू ने 1951 में कानून बनाया था कि सरकार राष्ट्रहित में किसी भी जमीन का अधिग्रहण कर सकती है और किसी को दे सकती है।'स्वामी ने कहा कि,इस देश में सबको अपने धर्म के अनुसार पूजा करने का अधिकार है। अयोध्या मामले में हमने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि हमारी आस्था है कि भगवान श्रीराम का जन्म अयोध्या में हुआ। जिसे सर्वोच्च अदालत ने माना। स्वामी ने कहा कि राम मंदिर पर हुआ फैसला आस्था के आधार पर हुआ। काशी विश्वनाथ मंदिर और कृष्ण जन्मभूमि भी हमारी आस्था से जुड़े हैं। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. मुरली मनोहर जोशी ने कहा कि, धर्म के आधार पर जो विकास होगा उसमें 'सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय' का भाव होगा। अंग्रेजी इतिहासकारों ने धर्म को संकुचित रूप देकर उसे रिलिजन का पर्याय बता दिया, जबकि धर्म एक बहुत ही व्यापक विषय है। 

Read 133 times