स्कैनर इंडिया को झारखंड के सभी जिलों में बेब इंफार्मर की आवश्यकता है। बेब इंफार्मर बनने के लिए 7050607516 पर  संपर्क करें अथवा This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.पर अपना बायोडाटा भेजें।

 

 

अन्य राज्य

अन्य राज्य
अन्य राज्य

अन्य राज्य (48)

दंतेवाड़ा : छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा से जगरगुंडा को जोड़ने वाली सड़क से आज एक एक करके जवानों ने 40 किलोग्राम के सात बारूदी सुरंग बम बरामद किए। केन्द्रीय सुरक्षा बल के उप पुलिस महानिरिक्षक डी एन लाल ने बताया कि केन्द्रीय सुरक्षा बल के 231 बटालियन के जवान वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव के लिए कोंडासावली गांव में सीविक एक्शन प्लान करने सुबह निकले थे। ग्रामीणों को खाद्य सामग्री और सीविक एक्शन प्लान कर आगे बढ़ रहे थे, लेकिन रास्ते भर में जवानों को नुकसान पहुंचाने के लिए नक्सलियों ने बारूदी सुरंग बिछा रखा था।

3 टिफिन बम, 3 छाता टाइप बम और 1 कुकर बम बरामद

जवानों ने नक्सलियों के लगाए 2 सन्त्री देखा, जिन्हें पीछा कर पकड़ने का प्रयास किया गया, लेकिन जंगल की आड़ लेकर दोनों भागने में कामयाब रहे। इसके बाद घटना स्थल की तलाशी के दौरान केन्द्रीय सुरक्षा बल के जवानों ने एक ही इलाके में 7 बारूदी सुरंग बम बरामद किया है, जिसमें 3 टिफिन बम, 3 छाता टाइप बम, 1 कुकर बम शामिल है। जिसे बटालियन की बम विरोधी दस्ता दल ने डिफ्यूज किया।

 

बिलासपुर। यह फोटो अरपापार सरकंडा क्षेत्र में रहने वाले श्री दिनेश कुमार शर्मा जी ने भेजी है। एक महिला का स्वास्थ्य खराब होने के बाद काफी देर तक इंतजार के बावजूद जब एंबुलेंस नहीं मिली। तो वहीं ड्यूटी पर मौजूद एक पुलिस जवान ने सड़क के किनारे किसी के आंगन में रखा यह रिक्शा निकाल लिया और इसमें बीमार महिला को बिठाकर अस्पताल तक यूं ही रिक्शा चलाते हुए ले गए। वैसे पुलिस कर्मियों की संवेदनशीलता और जनमानस से प्रेम का ऐसा नजारा इस पूरे छत्तीसगढ़ में देखने को मिल रहा है।धन्य है हमारे प्रदेश के पुलिसकर्मी। कोरोना वायरस के संक्रमण से जंग के समय समूचे छत्तीसगढ़ में पुलिस के जवानों ने जिस तरह रात दिन एक कर हर तरह से लोगों के स्वास्थ्य की हिफाजत में अपनी पूरी ऊर्जा झोंक दी है। बिलासपुर की पुलिस रिक्शा चालक बने एसआई द्विवेदी जो तारबाहर थाने में पदस्थ है।उसमें, छत्तीसगढ़ पुलिस और उसके जवानों के लिए एक सेल्यूट तो बनता ही है।

भिवंडी : कोरोना वायरस के चलते रोजगार उपलब्ध न होने के कारण मुंबई सटे भिवंडी के भिनार स्थित आदिवासी पाडा में रहने वाला गरीब परिवार पिछले पांच दिनों से पानी पीकर एवं जंगल का कंदमूल खाकर दिन काट रहा था। परिवार को आदिवासी सामाजिक संस्था के माध्यम से एक महीने का राशन दिया गया। कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते पूरे देश में लॉकडाउन होने के कारण पावर लूम, डाइंग एवं साइजिंग कंपनियों सहित उससे जुड़े सभी उद्योग धंधे बंद हो गए हैं, जिसके कारण सभी रोजगार ठप पड़ गए हैं। जहां अनेक गरीब परिवार दैनिक मजदूरी करके अपने परिवार का पालन-पोषण करते हैं। कोरोना वायरस के चलते रोजगार ठप होने ने दैनिक मजदूरी करने वाले उन परिवारों के सामने भुखमरी की समस्या खड़ी हो गई है। यही कारण है कि भिनार के आदिवासी पाडा के गरीब आदिवासी परिवार के पास कोई काम न होने के कारण पांच दिनों से पानी पीकर एवं कंदमूल खाकर दिन निकाल रहा था। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए यह आदिवासी परिवार अपने घर से नहीं निकल रहा है। उनका दृढ विश्वास है कि कुछ भी हो चलेगा, लेकिन कोरोना को हराना है। उन्होंने बताया कि रोजाना 100-200 रूपये कमा लेते थे। इससे उनके परिवार का पेट भर जाता था, लेकिन कामधंधा बंद होने के कारण उन्हें खाने के लिये कुछ भी नहीं मिल रहा है। खाने में उन्हें रोटी-चावल लगता है, लेकिन उसके लिए पैसा नहीं है। हेंगडे परिवार ने बताया कि रास्ते में गिरा हुआ चावल बीनकर लाते थे और उसे ही साफ करके भात बनाकर खाते थे। 

धनबाद। अनमोल जीवन ( NGO ) सामाजिक संस्था की ओर से कोविड-19 कोरोना लॉक डाउन की स्थिति में इस संस्था ने पूड़ी, सब्जी का पैकेट बनाकर गांधी ग्राम करकेन्द में लगभग डेढ सौ पैकेट , जीवन ज्योति कुष्ठ आश्रम में लगभग 50 पैकेट एवं धनसार सीआईएसफ कैप के सामने मजदूर धौडा में करीब 60 पैकेट गरीब असहाय लोगों के बीच में वितरण किया । इस संस्था के सचिव दिनेश लाल ने बताया कि यह वितरण का कार्यक्रम जो हम लोगों ने शुरुआत की है । इसमें हमारी संस्था के प्रत्येक सदस्यों ने अपना तन - मन और धन देकर सहयोग किया । आगे भी हमलोगो ने ठाना है की लॉक डाउन खुलने तक अलग-अलग क्षेत्रों में इस तरह का कार्यक्रम करते रहेंगे । वहीं संस्था के संयुक्त सचिव शिव शंकर यादव ने बताया कि हमारी अनमोल जीवन संस्था हमेशा गरीबों की सहायता के लिए तैयार थी और रहेगी । इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से मन्नू साहू , राजा यादव , उपेंद्र शर्मा , पप्पू पासवान, राज कुमार शर्मा, दामोदर, सुरेश चंद्र जायसवाल, संजय लाल , डॉक्टर स्वपन कुमार , रामबाबू , शंकर गुप्ता ने बढ चढकर भाग लिया ।

 

 

धनबाद। अनमोल जीवन ( NGO ) सामाजिक संस्था की ओर से कोविड-19 कोरोना लॉक डाउन की स्थिति में इस संस्था ने पूड़ी, सब्जी का पैकेट बनाकर गांधी ग्राम करकेन्द में लगभग डेढ सौ पैकेट , जीवन ज्योति कुष्ठ आश्रम में लगभग 50 पैकेट एवं धनसार सीआईएसफ कैप के सामने मजदूर धौडा में करीब 60 पैकेट गरीब असहाय लोगों के बीच में वितरण किया । इस संस्था के सचिव दिनेश लाल ने बताया कि यह वितरण का कार्यक्रम जो हम लोगों ने शुरुआत की है । इसमें हमारी संस्था के प्रत्येक सदस्यों ने अपना तन - मन और धन देकर सहयोग किया । आगे भी हमलोगो ने ठाना है की लॉक डाउन खुलने तक अलग-अलग क्षेत्रों में इस तरह का कार्यक्रम करते रहेंगे । वहीं संस्था के संयुक्त सचिव शिव शंकर यादव ने बताया कि हमारी अनमोल जीवन संस्था हमेशा गरीबों की सहायता के लिए तैयार थी और रहेगी । इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से मन्नू साहू , राजा यादव , उपेंद्र शर्मा , पप्पू पासवान, राज कुमार शर्मा, दामोदर, सुरेश चंद्र जायसवाल, संजय लाल , डॉक्टर स्वपन कुमार , रामबाबू , शंकर गुप्ता ने बढ चढकर भाग लिया ।

 

 

लॉक डाउन क्या है लॉक डाउन में आम जनता को क्या करना चाहिए और सरकार की क्या गतिविधि है इससे जुड़े प्रश्न को लेकर जब स्कैनर इंडिया के संवादाता विजय कुमार ने लोगों से चर्चा की तो मिली जुली प्रतिक्रिया मिली जिसमें अधिकांश लोगों को लॉक डाउन का अर्थ समझ में नहीं आ रही है . जनता अपने दायित्व और  कर्तव्य को समझ नहीं पा रही हैं इस संबंध में स्थानीय प्रशासन को ऐनाउंसमेंट के द्वारा या पोस्टरिंग के द्वारा आम लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता थी    लॉक डाउन क्या है सवाल पर लोगों ने कुछ इस तरह बयां की ….

                     बसेरीया  बस्ती  से रूपा पाठक ने बताया कि एक ओर कोरोना वायरस से जंग में जीत के लिए पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया गया है तथा लाखों करोड़ रुपए की राशि का आवंटन कर दिया गया है, वहीं दूसरी ओर देश के विभिन्न कोनों में जिन्दगी की जंग लड़ रहे  असाध्य रोगों से पीड़ित लोग अस्पताल तक कैसे पहुंचेंगे इसकी  कोई व्यवस्था नहीं है। लाॅकडाउन में यातायात की  मुकम्मल व्यवस्था नही होने के कारण धनबाद कोयलांचल के हजारों असाध्य रोगियों की जान संकट में है । गोधर बस्ती के शिक्षिका मीरा देवी ने बताया कि लॉक डाउन एक आपातकालीन प्रोटोकॉल है आपातकालीन स्थिति में लोगों की आवाजाही पर रोक लगाने के लिए सरकार द्वारा यह प्रतिबंध लगाया जाता है जिस शहर को लॉक डाउन किया जाता है उस शहर में कोई भी व्यक्ति घर से बाहर नहीं निकल सकता है वह स्वयं को घर में कैद कर लेता है मात्र अति आवश्यक कार्य के लिए लोग घर से बाहर निकल सकता है लॉक टाउन में जरूरी संस्थान वाले जैसे नर्सिंग होम सरकारी कर्मचारी जो बहुत अस्तित्व अधिकारी हो सरकार ने उसे पास बनाने का प्रावधान रखा है लोगों को पास बनाकर ही कार्य करना चाहिए  ।           केंद्र सरकार ने   कोरोनावायरस से बचाव को लेकर बड़ा फैसला लेते हुए 14 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन (तालाबंदी) लागू कर दिया है  । इसके मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी । इससे पहले मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपने आवास पर अधिकारियों के साथ बैठक कर इस संबंध में निर्णय लिया । लॉक डाउन के तहत झारखंड में राशन दुकान छोड़कर सभी दुकान और प्रतिष्ठान,  फैक्ट्री , सप्ताहिक हाट बाजार आदि 14 अप्रैल तक बंद रहेंगे  । इस दौरान सरकारी कार्यालय भी बंद रहेंगे । पदाधिकारी और कर्मी अपने घरों पर ही काम करेंगे  । आकस्मिक सेवाओं को इससे मुक्त रखा गया है  । टैक्सी,  ऑटो , बस , रिक्शा ,  ई-रिक्शा के साथ सार्वजनिक परिवहन पर पूर्ण रोक रहेगी  । अपवाद में स्वास्थ्य की तत्काल आवश्यकता को देखते हुए अस्पताल तक परिवहन को इससे मुक्त रखा गया है।  सभी धार्मिक का स्थल भी दर्शनार्थियों के लिए बंद रहेंगे । उपरोक्त सरकार के सारे नियमों का स्वागत करते हुए आम जनता को इसका पालन करना उनका कर्तव्य बनता है । सोनी देवी ने बताया कि लॉक टाउन में मोदी जी के अनुसार सारे चीज बंद होने चाहिए ।  लेकिन इसके साथ ही सभी आम नागरिक से आपके प्रेस के माध्यम से कहना चाहूंगी कि कोरोनावायरस से बचाव के उपाय भी जरूरी हैं  । बाहर में आपस में कम से कम 1 मीटर की दूरी सबकी सुरक्षा के लिए जरूरी है । अपने हाथों को बार-बार साबुन और पानी से धोएं । साबुन और पानी उपलब्ध ना हो तो कम से कम 60 प्रतिशत  अल्कोहल आधारित है सैनिटाइजर का उपयोग करें । अपनी आंख नाक और मुंह को छूने से पहले हाथ को धो लें  । छींक, ते और खांसते समय अपने नाक और मुंह को रुमाल या टिशू से ढके । समाजिक आयोजनों और भीड़भाड़ वाली जगहों से दूर रहें । विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापिका सीता देवी ने बताया कि विदेश में कोरोना से पीड़ित देश को देखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सोचा कि यह कोरोनावायरस से  अगर कोई आदमी  पीड़ित हो जाता है , तो वह आदमी के संपर्क में जितने भी लोग होंगे , सभी को हो सकता है । और ऐसे संक्रमित व्यक्ति को आइसोलेशन में रखना जरूरी होता है  । हमारे देश में इस आइसोलेशन की व्यवस्था सभी अस्पताल में नहीं है  । जिस कारण पूरे देश में लॉक डाउन किया गया है।  यह लॉक डाउन समाज को बचाने के लिए एवं कोरोना जैसे महामारी से देश की जनता सुरक्षित रहे।  हम भारतवासी को प्रधानमंत्री के नियमों का पालन करना चाहिए ।  यहां के समाजसेवी एवं उद्यमियों को देश के विकट परिस्थिति में गरीब लोगों की खाद्यान्न की व्यवस्था करनी चाहिए ।  इस लॉकडाऊन मॆ  गरीब लोग भूखे मर रहे हैं  । ऐसे तो सरकार ने जन वितरण प्रणाली के द्वारा गरीब लोगों को राशन दे रही है।  लेकिन आज भी कुछ लोगों का राशन कार्ड नहीं बना हुआ है जिससे वह जन वितरण प्रणाली से वंचित रह जा रहे हैं  । गृहिणी रिंकी देवी ने बताया कि देश हित के लिए प्रधानमंत्री ने जो 21 दिन का लॉक डाउन का जो निर्णय लिया है यह सराहनीय कदम है  । देश के हर एक जनता को इसका पालन करना चाहिए ।  लेकिन एक बात आपके प्रेस  के माध्यम से जरूर कहना चाहूंगी कि , यहां की जनता में शिक्षा के अभाव में लॉक डाउन क्या है , इसको  लोग समझ नहीं पा रहे हैं  । जिस कारण से लॉक डाउन का पूर्ण रूपेण पालन नहीं हो पा रहा है  । स्थानीय प्रशासन को लॉक डाउन का पूर्णरूपेण पालन कराने के लिए लोगों को लॉकडाउन के प्रति जागरूकता करने की आवश्यकता है  । साथ ही आम जनता से अपील करूंगी कि लॉकडाऊन   का पालन तो करें ही,  साथ में कोरोनावायरस से बचाव के जो  उपाय सरकार ने बताया है , उसका पालन भी जरूर करें।

                      धनबाद।  एक तरफ  जहां पूरा देश  कोरोना वायरस को लेकर लॉक डाउन  का पालन कर रहा है  वहीं गोधर  में लॉक डाउन का पालन नहीं हो रहा है । धनबाद लॉक डाउन को सफल बनाने के लिए पुलिस प्रशासन अलर्ट है , ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण के चेन को रोका जा सके।  कोरोना वायरस संक्रमण  को रोकने के लिए  धनबाद  पुलिस काफी जागरूक है,  और लोगों को भी जागरूक कर रही हैं  कि सरकार के निर्देशों का पालन करते हुए जनता से अपील करती है कि लॉक डाउन नियमों का पालन करें  । लोग अपने-अपने घरों में रहे और साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दें।  फिलहाल लॉक डाउन का पालन करके ही कोरोना वायरस जैसी महामारी के फैलाव को रोका जा सकता है । तभी आप सुरक्षित रहेंगे तो परिवार समाज देश सभी सुरक्षित रहेगा । 

एक तरफ धनबाद पुलिस जनता के सहयोग के लिए हर पल तैयार हैं। वहीं दूसरी ओर केंदुआडीह  अंतर्गत गोधर क्षेत्र में देश के  प्रधानमंत्री द्वारा लगाए गए लॉक डाउन का पालन नहीं हो रहा है।   केंदुआडीह थाना प्रभारी ने इस पर संज्ञान लेकर पीसीआर को भेजने का काम किया , लेकिन पीसीआर में बैठे  प्रशासनिक अधिकारी उनको बंद  ना करा कर उल्टे उस दुकान में बैठे रहते हैं । गोधर के कुछ दुकानदार से जब हमारे संवाददाता ने बातचीत की तो उन्होंने बताया कि केंदुआडीह पुलिस प्रशासन ब्लॉक डाउन का पालन नहीं करा पा रही है क्योंकि खुलेआम गोधर क्षेत्र में बीसीसीएल द्वारा भी  आउटसोर्सिंग चलाए जा रहे हैं । जिस पर प्रशासन की नजर नहीं है।  ऐसे तो बीसीसीएल हर क्षेत्र में लोगों को धूल दे ही रही है जिससे रोग से ग्रसित हैं । संभवतः ऐसा करना  कोरोना वायरस को फैलाने में भी अहम भूमिका निभा रही है ।  धनबाद संवाददाता विजय कुमार .........

  धनबाद धनसार विश्वकर्मा परियोजना लाहबेड़ा ग्रामीणों द्वारा झारखंड मुक्ति मोर्चा बैनर तले 13 दिन से अनिश्चितकालीन जारी है आंदोलन महानगर अध्यक्ष देबू महतो ने ऊर्जा प्रदान करते हुए मजदूरों को न्याय दिलाने की भरोसा दिया तथा प्रबंधन को हमारी बातें सुनने को मजबूर होना होगा नहीं तो परियोजना में होगी चक्का जाम उन्होंने बताया कि बीसीसीएल राजनीतिक दबाव में रैयतदरों को पूर्व इकरारनामा के तहत रोजगार उपलब्ध ना कर लाहबेड़ा ग्रामीणों के साथ छलकर इनके बाल बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है जो गंभीर मामला है ऐसी परिस्थितियों में परियोजना में चक्का जाम करना ग्रामीणों की बाध्यता है जिला प्रशासन तथा प्रशिक्षण प्रबंधन की ओर से ध्यान नहीं देगी तो ग्रामीणों को बाध्य होकर उक्त मामले को मुख्यमंत्री के समक्ष ले जाकर न्याय की गुहार लगाएंगे मौके पर धीरन मुखर्जी, राधे श्याम वाल्मीकि, सुमन देवी, अशोक हाड़ी ,शीतल मुर्मू, अशोक राम, मंटू कुमार चौहान, अजय प्रसाद, विशेश्वर प्रसाद, दिनेश मुर्मू, कोकिल कुमार ,वीरेंद्र हादसा ,सागर हरदा, शांति मुर्मू ,लखी मुनि मुर्मू सहित दर्जनों उपस्थित थे.

धनबाद गोंदुडीही- खास कुसुंडा ओपन कास्ट प्रोजेक्ट आर पै च में हैवी ब्लास्टिंग से बसरिया तिवारी बस्ती निवासी सुनील रवानी के घर की छत का ढलाई टूट कर गिर गई।   इससे वहां पर सोई ग्यारह माह की बच्ची बाल-बाल बच गई।मौके पर कोयलांचल नागरिक समिति के केन्द्रीयअध्यक्ष चन्द्र शेखर पाठक ने कहा कि भारत कोकिंग कोल लिमिटेड तथा आउटसोर्सिंग कंपनी इंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड जबरजस्ती पर उतर आई है हैवी ब्लास्टिंग से बसरिया तिवारी बस्ती समेत आसपास के इलाकों में हमेशा भूकंप जैसी स्थिति बनी रहती है कब किसके घर पर दुर्घटना घट जाए यह कहना मुश्किल है अविलंब आउटसोर्सिंग कंपनी को ब्लैक लिस्ट कर हैवी ब्लास्टिंग पर रोक लगाई जानी चाहिए।भुक्त भोगी सुनील कुमार रवानी ने कहा कि अभी स्थानीय थाना (गोन्दूडीह ओ पी) में प्राथमिकी दर्ज कराऐंगे।श्री रवानी ने कहा कि गोन्दूडीह-खास कुसुण्डा ओपन कास्ट प्रोजैक्ट में मानक से अधिक भारी विस्फोट के कारण यह घटना घटित हुई हैं । उक्त परियोजना में कार्यरत ठेका कंपनी  Hilltop hirise Private Limited के द्वारा मानक से अधिक भारी विस्फोट के कारण यह घटना घटित हुई है। माइंस से महज 75 फीट की दूरी पर  घनी आबादी बसी हुई है उसे अनदेखी कर कंपनी द्वारा कंपनी द्वारा बराबरी ब्लास्टिंग की जा रही है जिसके कारण वहां के लोग काफी भयभीत हैं.

           धनबाद हिल कॉलोनी में धनबाद नगर निगम चुनाव 2020 में धनबाद जिला स्तरीय हाड़ी समाज का एक सर्वदलीय बैठक संपन्न हुआ बैठक की अध्यक्षता नंदकिशोर हाड़ी संचालन मुखिया मनोज कुमार हाड़ी एवं धन्यवाद ज्ञापन संजय हाड़ी के द्वारा किया गया कार्यक्रम की शुरुआत भीमराव अंबेडकर जी के फोटो पर माल्यार्पण किया गया बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि नगर निगम चुनाव में उप महापौर एवं लगभग 20 वार्ड में वार्ड सदस्य का चुनाव लड़ने हेतु समाज से प्रत्याशी देने का निर्णय लिया गया है बैठक में सर्वसम्मति से रमेश हाड़ी को उपमहापौर के पद पर चुनाव लड़ने हेतु प्रत्याशी घोषित किया गया बैठक में मनोज कुमार हाड़ी ने बताया की समाज एकजुट होकर सभी प्रत्याशियों के लिए नगर निगम क्षेत्र के सभी वार्ड सही मोहल्ले एवं सभी घरों में जाकर वोट की अपील करेगी हाड़ी समाज को पूर्ण भरोसा है कि इस निर्णय का सभी समाज सभी वर्ग स्वागत एवं समर्थन करेगी क्योंकि हाड़ी समाज के लोग सदैव दूसरे का सेवा प्रदान किया है तथा आज तक समाज सभी वर्ग को वोट देने का काम किया है इसलिए इस बार हाड़ी  समाज को भी सभी वर्ग से आशा है कि समाज के द्वारा घोषित प्रत्याशी को भारी मतों से विजय बनाकर उप महापौर के पद पर बिठाकर सेवा करने का मौका प्रदान करेंगे राजू प्रसाद हाड़ी ने कहा कि समाज में शिक्षित लोगों की कमी नहीं है लेकिन हम अभी तक सभी से पिछड़े हुए हैं इसका कारण यह है कि आज तक  समाज के प्रति जागरूक नहीं  थे जिस कारण किसी भी चुनाव में भाग नहीं ले सकते लेकिन बाबा साहब अंबेडकर के द्वारा दिखाए गए उनके अंगुलियों के इशारों को अब हमारे समाज को समझ में आ चुका है कि हमें संवैधानिक पद की आवश्यकता है और यह चुनाव के माध्यम से ही संभव है तभी हमारा शिक्षित समाज विकसित हो सकता है कार्तिक प्रसाद हाड़ी ने कहा कि हमारे समाज के 90% लोग नगर निगम क्षेत्र में गुजर-बसर कर रहे हैं लेकिन अभी तक पूरे हाड़ी समाज के लोगों को उपेक्षित किया गया है आज तक समाज में उनका अहम योगदान रहा है फिर भी अभी तक ना तो उनको उचित मजदूरी मिली है और ना ही उनका विकास हुआ है अगर हम समाज का भला चाहते हैं तो हमें अपनी लड़ाई खुद लड़नी पड़ेगी और इसके लिए जरूरी है कि आने वाले समय में नगर निगम चुनाव में एकजुट होकर चुनाव लड़े और सभी जाति धर्म की सेवा की भावना रखते हुए अधिक से अधिक सीट लाने का काम करें उक्त कार्यक्रम में जिले के तमाम दूरदराज गांव क्षेत्र से सामाजिक कार्यकर्ता मुख्य रूप से बचन हार्डी ,राजन हाड़ी, सुभाष, प्रेमचंद ,बलराम, बसंत ,अजय ,गुड्डू, प्रकाश ,बिजली देवी , संगीता देवी ,सरिता देवी, जया देवी ,किरण देवी ,अन्नू देवी ,शांति देवी, रिंकू देवी ,कोका हाड़ी, हेमंत ,अन्नू ,रामचंद्र ,दिनेश, मथुरा, अभीजीत कुमार, बचू ,राजेंद्र ,सुखदेव ,मधु, रामलाल ,भूतू ,राजेश, संतोष, जीतू , सोंसटी  बबलू, कृष्णा ,सपन ,किशोरी, सोनू ,निवास ,सुनील, विनोद हाड़ी आदि सैकड़ों महिला-पुरुष उपस्थित थे

Page 1 of 4