Headlines:

Hottest News

Advt....

Tuesday, 09 July 2019 10:18

FIR लिखने का सही तरीका क्या है

Written by
Rate this item
(0 votes)

जब भी किसी व्यक्ति के साथ कोई अपराध होता है तो उस अपराध की शिकायत पुलिस में कराई जाती है| उस शिकायत को FIR यानी फर्स्ट इनफार्मेशन रिपोर्ट कहते है|इसमे लेख में हम बताएँगे कि FIR क्या होती है कैसे होती है FIR लिखने का सही तरीका क्या होता है| साथ ही ये भी बताएँगे कि एक स्ट्रोंग FIR आप कैसे लिखवा सकते हैं| इसके अलावा एक बहुत महत्वपूर्ण बात ये भी बताएँगे कि अगर पुलिस आपकी FIR लिखने से मना करे तो क्या करें|

पुलिस FIR लिखनेसे मना करे तो

कई बार पुलिस FIR लिखने में आनाकानी करती है| लेकिन CRPC 154 के तहत FIR लिखवाना आपका अधिकार है| अगर पुलिस आपकी एफआईआर लिखने में आनाकानी कर रही है तो आप उनके ऊपर के अफसर जैसे CO, SP, SSP,) को शिकायत कर सकते है| या फिर अगर आप दिल्ली के हैं तो जॉइंट कमिश्नर या अगर दुसरे किसी राज्य से हैं तो रेंज के डीआई जी से मदद मांग सकते हैं| इसके अलावा आप किसी एनजीओ से भी मदद ले सकते हैं|

जब FIR दर्ज हो जाए तो ये ध्यान रखें कि FIR की कॉपी जरूर लें और देख लें कि उस पर उस पुलिस स्टेशन की मुहर थाना प्रमुख यानी एसएचओ के साइन जरूर हों। एफआईआर की कॉपी आपको देने के बाद पुलिस अधिकारी अपने रजिस्टर में लिखेगा कि सूचना की कॉपी शिकायतकर्ता को दे दी गई है। इसके बाद आपकी शिकायत पर हुई प्रोग्रेस यानी कारवाई की सूचना संबंधित पुलिस आपको डाक से भेजेगी।

जीरो FIR

अब नेक्स्ट स्टेप आता है कि पुलिस कहती है कि मामला उनके थाने का नहीं है| तो ऐसे में आप क्या करें| लेकिन आपको जानकर अच्छा लगेगा कि अगर एफआईआर कराते वक्त आपको और पुलिस को घटना स्थल की सही जानकारी नहीं है तो भी चिंता की बात नहीं। ऐसे में आप जीरो FIR दर्ज करवा सकते हैं| जिस भी थाने में आप पहुंचे हैं वहां कि पुलिस FIR  दर्ज कर जांच करना ही होगा और जांच के दौरान घटना स्थल का थानाक्षेत्र पता लग जाने के बाद उस केस को संबंधित थाने में ट्रांसफर कर देगी| ये पुलिस का ही काम है| याद रखिये की किसी भी निकट के थाने में FIR दर्ज करवाना आपका कानूनी हक़ है। एफआईआर दर्ज करवाने का कोई शुल्क नहीं लिया जाता है। अगर आपसे कोई भी एफआईआर दर्ज करवाने के नाम पर फीस या नकद की मांग करे तो उसकी शिकायत उसके सीनियर अफसर या विजिलेंस के पास की जा सकती है।

FIRलिखने का सही तरीका

अब आपके लिए ये जानना जरूरी है कि एफआईआर लिखने का सही तरीका क्या है| अक्सर लोगो की शिकायत होती है कि पुलिस ने उनकी एफआईआर नहीं लिखी या या फिर मजिस्ट्रेट के यहाँ FIR के लिये किया गया आवेदन निरस्त हो गया। इसके तो कई कारण होते है लेकिन एक कारण ये होता है कि कि आपके लिखने तरीका गलत हो। आइये जानते हैं कि FIR  लिखने या सही  तरीका क्या है| सबसे पहले इस बात का ध्यान रखें कि FIR को स्पष्ट लिखें और पूरे मामले को लिखें| जिसमें घटना, तारीख, समय स्थान स्पष्ट रूप से पता चले| कई बार ऐसा हुआ है कि कुछ शब्दों के कारण FIR पूरी तरह कमजोर बनी और आरोपी जल्दी छूट गये या बरी हो गए| जैसे अगर कोइ महिला रेप की रिपोर्ट करवाना चाहती है तो पुलिस उसे रेप शब्द ना लिख कर गलत काम जैसे शब्दों का प्रयोग करती है| इसकी कई वजह हो सकती हैं जैसे पुलिस की नीयत रहती है कि उनके थाना क्षेत्र में क्राइम रेट कम दिखे| क्योंकि रेप एक गंभीर अपराध है| इस से पुलिस की परेशानी काफी बढ़ जाती है, तो वो इसे गलत काम कह कर अपराध की गंभीरता को कम कर देती है| तो कानूनी शब्दों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है| इसके अलावा कुछ और भी बिन्दु हैं जिन के आधार पर आप शिकायत लिखेंगे तो आपकी FIR जरूर लिखी जाएगी या फिर अगर आप धारा 125 के तहत मजिस्ट्रेट को आवेदन दे रहे हैं तो वो भी रिजेक्ट नहीं होगा|

क्योंकि पहली शिकायत आपको ही कागज़ पर लिख कर देनी होती है तो आप इसके लिए एक काम करें हम आपको कुछ सवाल बताते हैं जिनके जवाब में आप एक मजबूत FIR लिखवा सकते हैं|

आइये जानते हैं वो सवाल | सबसे पहले पेज पर लिखिए कब, कहाँ, किसने, किसको, किसलिए| अब इनके जवाब दीजिये| कब यानी तारीख और समय| कहाँ यानी की घटना किसा जगह हुयी| किसने यानी अपराध को किसने अंजाम दिया, वो कोइ ज्ञात या अज्ञात कोइ भी हो सकता है, उसकी संख्या भी आप बता सकते हैं| किसलिए यानी की अपराधी की इंटेंशन| ये बहुत इम्पोर्टेंट शब्द है| कई बार ऐसा होता है कि कोइ व्यक्ति किसी पर गोली चला दे या जानलेवा हमला कर दे तो ये जांच का विषय होगा कि ये हमला आत्म रक्षा में हुआ या ह्त्या करने के इरादे से किया गया| इससे ही पूरा केस पलट सकता है| इसी के आधार पर हत्या या गैर इरादतन हत्या जैसी धारा निर्धारित होती हैं|   

तो ये कुछ पॉइंट्स थे जिससे आप एक मजबूत FIR दर्ज करवा सकते हैं| उमीद है ये वीडियो आपके लिए बेहद यूजफुल होगा, बहुत बहुत धन्यवाद|

Read 19 times