Headlines:

Hottest News

विज्ञापन------------

Wednesday, 24 March 2021 15:13

रघुवर दास की सरकार और वर्तमान में हेमन्त सोरेन की सरकार में कौन अच्छी सरकार

Written by राजेश कुमार ,शंकर गुप्ता , बरकट्ठा
Rate this item
(0 votes)

बरकट्ठा प्रखंड के गइपहाड़ी पंचायत से रामदेव प्रसाद ने बताया माननीय पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास जी तथा वर्तमान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी इन दोनों में सबसे अच्छा पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास जी थे ।रघुवर दास जी के कार्यकाल में काफी लोगों को नौकरियाॅं मिली। जिसमें कुछ लोग इंजीनियर कुछ लोग डॉक्टर तथा कुछ लोग टीचर के पद पाएं। खेतों में फसलो के लिए पानी का व्यवस्था सोलर पैनल द्वारा सिंचाई का व्यवस्था किया गया।झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी सहकारिता विभाग से हजारीबाग जिले के महासचिव मोहम्मद अयूब ने बताया माननीय पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास जी से लाख गुना अच्छा अभी के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी है। रघुवर दास जी ने लाखों लोगों को नौकरी देने का वादा करके छोड़ दिये वही हेमंत सोरेन जी कई लोगों को मनरेगा तथा कई योजनाओं के तहत नौकरी देकर हटाए हैं।बरकट्ठा निवासी तुलसी पंडित ने बताया माननीय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से अच्छा पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास जी थे। पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास जी अपने कार्यकाल में खाना बनाने हेतु एलपीजी गैस तथा चूल्हा फ्री में वितरण करवाये।बरकट्ठा प्रखंड के गंगपांचो निवासी राजेश कुमार का कहना है माननीय पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास जी के कार्यकाल में हमारे गांव के बहुत लोगों को नौकरियां मिली राशन कार्ड बना खाना बनाने हेतु एलपीजी गैस तथा चूल्हा फ्री में वितरण किया गया। वही जगह पर अभी का मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के कार्यकाल में अभी तक हमारे एरिया के किसी आदमी को भी नौकरियां नहीं मिली है ना ही किसी को रोजगार मिलाबरकट्ठा प्रखंड के बेड़ों कला निवासी श्यामसुंदर पंडित ने बताया की माननीय पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास जी के कार्यकाल में कई डिपार्टमेंटो को समय पर वेतन नहीं दिया गया जैसे मैं बिजली डिपार्टमेंट कर्मचारी, मनरेगा, पारा शिक्षक इत्यादि। लेकिन वही जगह पर माननीय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के कार्यकाल में उन्हें अच्छी तरह से काम करने का मौका नहीं मिल पाया वह काम करना शुरू किये तभी लॉकडाउन लागू हो गया ।जिसके कारन सही तरह से काम नहीं कर पाए। अब धीरे-धीरे अपने काम को सुधार रहे हैं जिससे जनता को दिक्कत ना हो। यह सरकार जनता के बारे में सोच रही लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री जो नियम पास कर देते थे वह अपने नियम पर यड़े रहते थे किसी और का नहीं सुनते थे।

Read 25 times